व्यक्ति के कौशल का परिचय देने के लिए शब्दों से अधिक कर्म श्रेष्ठ माध्यम हैं…-अंकित शर्मा

चलो मनाते हैं अपना नववर्ष!

अरे! सुनो… चलो मनाते हैं नया साल इस भीड़ से एकदम निकलकर। इन्हें मना लेने दो नया साल ठिठुरती ठंड में अश्लील गीतों की थिरकन पर। हम चलेंगे वहाँ पर जहाँ सूर्य अपनी किरणें फैलाये, जहाँ बसन्त अपनी सुगन्ध बिखेरे, महुआ कुच और आम बौर लिये, बिरहा कजरी और चैत्र के गीत के साथ। जहाँ … Continue reading चलो मनाते हैं अपना नववर्ष!


Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.